मुख्यमंत्री श्री चौहान ने आचार्य विनोबा भावे की पुण्य-तिथि पर किया नमन

भोपाल- मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने भारत रत्न स्व. आचार्य विनोबा भावे की पुण्य-तिथि पर उन्हें नमन किया। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने निवास स्थित सभागार में आचार्य भावे के चित्र पर माल्यार्पण कर पुष्पांजलि अर्पित की। इस मौके पर प्रदेशाध्यक्ष भाजपा अनुसूचित जनजाति मोर्चा श्री कल सिंह भाबर उपस्थित थे।

आचार्य विनोबा भावे का जन्म 11 सितंबर 1895 को हुआ। वे भारत के स्वतंत्रता संग्राम सेनानी, सामाजिक कार्यकर्ता तथा प्रसिद्ध गांधीवादी नेता थे। उनका मूल नाम विनायक नरहरि भावे था। उन्हें महात्मा गांधी का आध्यात्मिक उत्तराधिकारी समझा जाता है। उन्होंने अपने जीवन के आखिरी वर्ष पवनार, महाराष्ट्र  के आश्रम में गुजारे।

सव. भावे ने उन्होंने  भूदान आन्दोलन चलाया।  नागपुर झंडा सत्याग्रह में वे बंदी बनाये गये। विनोबा भावे अत्यंत विद्वान एवं विचारशील व्यक्तित्व के धनी थे। अर्थ शास्त्र, राजनीति और दर्शन के आधुनिक सिद्धांतों का भी उन्होंने गहन अवलोकन, चिंतन किया। सामुदायिक नेतृत्व के लिए वर्ष 1958 में अन्तर्राष्ट्रीय रेमन मेगसेसे पुरस्कार पाने वाले वह पहले व्यक्ति थे। स्व. श्री भावे का निधन 15 नवंबर, 1982 को हुआ था। वर्ष 1983 में मरणोपरांत उनको देश के सर्वोच्च नागरिक सम्मान “भारत रत्न” से सम्मानित किया गया।

Advertisement

ताज़ा खबरे

Video News

NEWS

error: \"छत्तीसगढ़ 24 न्यूज़\" के कंटेंट को कॉपी करना अपराध है।