सुरेश कश्यप महीने में एक बार करवाते हैं स्टेज पेरोफॉर्मेन्स

गरियाबंद : लीली स्पोकन इंग्लिश सेंटर देवभोग के नाम से मसहूर देवभोग क्षेत्र की एकमात्र इंग्लिश स्पोकन क्लास जो इंग्लिश सीखाने का काम कर रहा है जिसकी परिणाम आने शुरू हो गए हैं। लीली स्पोकन इंग्लिश के ट्रेनर के मार्गदर्शन में 30 से 40 बच्चे अंग्रेजी बोलने एवं लिखने के सरल तरीके सीख रहे हैं। 30 दिन की इस पाठशाला में अंतिम दिन बच्चों की स्टैज पेरोफॉर्मेन्स क्या जाता है। सभी बच्चे इस सेमिनार के माध्यम से सभी बच्चे अंग्रेजी बोलना सीख रहे हैं।

स्वतंत्रता संग्राम सेनानी की परिवार के सदस्य समाज सेवक आशीष पांडे ने बताया कि यदि रटाने की अपेक्षा समझ कर सिखाया जाए तो इंग्लिश सीखना बहुत ही आसान है। स्पोकन इंग्लिश सिर्फ स्पोकन प्रैक्टिस से ही आती है। लेकिन आज तक इंग्लिश ग्रामर की किसी भी टॉपिक के साथ उसकी स्पोकन प्रैक्टिस नहीं है। इसलिए पुरानी इंग्लिश ग्रामर से कोई कभी इंग्लिश सीख ही नहीं पाता।

इस समस्या के लिए इंग्लिश रिसर्च टीम ने सरल स्पोकन प्रैक्टिस तैयार की। गांव के हिंदी माध्यम के बच्चों के लिए भी अंग्रेजी को सरलतम तरीके से पढ़ाने की कार्ययोजना तैयार की गई है। मातृभाषा हिंदी के प्रोत्साहन के लिए अंग्रेजी सीखने, सिखाने के इतने सरल तरीकों की जानकारी लेना बहुत जरूरी है। इसलिए इस स्पोकन इंग्लिश वर्कशॉप का सुरेश कश्यप के द्वारा आयोजित किया जाता है। इस कार्यक्रम के अध्यक्षता अनिल कुमार माँझी,मुख्य अथिति आशीष पांडेय समाज सेवक,सुशील यादव,शंकर माँझी,पालकगण एवं मीडिया साथी उपस्थित रहे।

Advertisement

ताज़ा खबरे

Video News

NEWS

error: \"छत्तीसगढ़ 24 न्यूज़\" के कंटेंट को कॉपी करना अपराध है।