नाबालिग लड़की से रेप फिर जबरदस्ती शादी.. इसके घर से निकाल दिया, जाने पूरा मामला

जांजगीर-चांपा : आरोपी ने उसे प्यार के झांसे में लिया फिर घर ले जाकर नाबालिग से कई बार दुष्कर्म किया। परिजनों ने आरोपी और लड़की की शादी भी करवा दी। बाद में लड़की को मारपीट कर घर से बाहर निकाल दिया था। अब यह मामला थाने पहुंचा है। पुलिस ने आरोपी युवक और उसके माता-पिता को गिरफ्तार कर लिया। 16 साल की पीड़िता के माता-पिता दूसरे राज्य में काम करते हैं। जिस वजह से वह अपने नानी के यहां रहकर पढ़ाई करती थी।

पिछले साल उसकी मुलाकात दिल कुमार कश्यप (19वर्ष) से हुई थी। बताया जा रहा है कि लड़की जब स्कूल जाती थी, तब आरोपी दिल कुमार उसे देखता था। बाद में युवक ने लड़की से कहा कि मैं तुमसे प्यार करता हूं। शादी करना चाहता हूं, चलो मेरे साथ, हम दोनों पहले शादी कर लेंगे। पता चला है कि युवक ने पढ़ाई छोड़ दी और रोजी-मजदूरी का काम करता था। जिसके बाद से लड़की भी उसकी बातों में आई और लड़के के साथ चली गई। युवक उससे शादी न करके उसके साथ दुष्कर्म करता रहा।

लड़की ने कई बार इस बात का विरोध किया, फिर भी आरोपी नहीं माना। जिस पर लड़की ने उससे कहा कि मुझे वापस घर जाना है। लेकिन आरोपी ने उसे जाने नहीं दिया। उधर कुछ समय बाद युवक के माता पिता ने जबरदस्ती ही युवक की शादी लड़की से करवा दी। बताया जा रहा है कि शादी होने के बाद लड़की युवक के साथ ही रहने लगी। और एक साल तक उसके घर में ही रही। उधर, दिल के माता-पिता भी लड़की को परेशान करते रहे।

आरोपी और उसके माता पिता ने कई बार लड़की से मारपीट भी की। युवक के परिजन संतोष कश्यप और गंगोत्री बाई कश्यप लड़की को ये कहकर प्रताड़ित करे जा रहे थे कि तुम खाना ठीक से नहीं बनाती हो। जिसके बाद से उसे घर से निकाल दिया। लड़की की नानी ने भी इसका विरोध किया तो उसको भी धमकाया। फिर घर से भगा देने के बाद लड़की बिलासपुर रेलवे स्टेशन के बाहर भीख मांगने लगी।

फिर जब लड़की के माता-पिता बाहर से काम करके वापस लौटे, तब उन्होंने अपनी बेटी को स्टेशन के बाहर देखा। जिसके बाद लड़की ने पूरी बात अपने माता-पिता को बताई। फिर 6 नवंबर को मामले में पुलिस से शिकायत की गई। इसी रिपोर्ट के आधार पर पुलिस ने आरोपी दिल कमार संतोष कश्यप और गंगोत्री बाई कश्यप को गिरफ्तार किया गया है।

Advertisement

ताज़ा खबरे

Video News

NEWS

error: \"छत्तीसगढ़ 24 न्यूज़\" के कंटेंट को कॉपी करना अपराध है।