महतारी वंदन योजना : न हों उदास आगे भी दिया जाएगा मौका, जानिए सीएम साय ने क्या कहा…

रायपुर : महतारी वंदन योजना (Mahtari Vandan Yojana) के आवेदन को लेकर मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय ने बड़ा बयान दिया है। सीएम साय ने कहा कि, आज महतारी वंदन योजना (Mahtari Vandan Yojana) के आवेदन करने का आखिरी दिन है। और अब तक 70 लाख फार्म आ चुके हैं। इन सबकी जांच होगी। दावा आपत्ति करने का भी समय रहेगा और फिर लास्ट सूची का प्रकाशन किया जाएगा। इसके बाद लाभार्थियों को इसका लाभ दिया जाएगा। यह योजना लगातार चालू रहेगी, जो पात्र छूट जाएंगे तो उनका फिर से फार्म भराकर लाभ दिलाया जाएगा। हालांकि, पूर्व मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने इस योजना के फार्म भरे जाने की डेट को बढ़ाने की मांग की थी।

राम मंदिर के लिए फ्लाइट की मांग !

प्रदेश के मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय ने आगे बताया कि अयोध्या(यूपी) में राम लला की दर्शन के लिए रायपुर में फ्लाइट की सुविधा हो इसके लिए हमारे प्रदेश अध्यक्ष ने उड्डयन मंत्री से बात की है, निश्चित ही उड्डयन मंत्री इस पर विचार करेंगे और प्रदेश की जनता को सुविधा मिलेगा। वही सीएम साय ने विपक्ष को अयोध्या ले जाने के सवाल पर कहा कि सबको अयोध्या में श्री राम लला दर्शन का न्यौता है, रामलला दर्शन योजना राज्य सरकार की है, जो रामभक्त होंगे वे सरकार के खर्चे पर अयोध्या जा सकते हैं, अभी तो हम सिर्फ मंत्रिमंडल के साथ अयोध्या जाएंगे।

पूरा छत्तीसगढ़ पीएम का आभारी है– साय

उन्होंने कहा कहा कि पीएम मोदी ने आज छत्तीसगढ़ को बड़ी सौगात दी है, उन्होंने भिलाई में आईआईटी का लोकार्पण किया है साथ ही कवर्धा में भी उन्होंने नवोदय विद्यालय के भवन का लोकार्पण किया है इसके लिए पूरा छत्तीसगढ़ उनका ह्रदय से आभारी है। उन्होंने कहा कि आईआईटी भिलाई के लोकार्पण के बाद हमारे बच्चों को नया परिसर मिला है और वे विकसित छत्तीसगढ़ के लिए अब काम करेंगे।

अब पीएम आवास के लाभार्थियों को मिलेगी छूट में रेत

उन्होंने पीएम आवास को लेकर भी बड़ा बयान दिया है उनका कहना है कि जो भी पात्र होंगे वे बिना रॉयल्टी दिए छोटी गाड़ी में रेत ले जा सकते हैं इसके लिए उनको छूट दी गई है।

Chhattisgarh24News.Com के व्हाट्सएप चैनल को फॉलो करना न भूलें 👇

 https://whatsapp.com/channel/0029Va4mCdjL7UVLuM2mkj0Q 
ताज़ा खबरे

Video News

NEWS

error: \"छत्तीसगढ़ 24 न्यूज़\" के कंटेंट को कॉपी करना अपराध है।