कत्थक केंद्र नई दिल्ली के लिए डॉ. मंजरी सिंह का हुआ चयन

खैरागढ़ : आवाज फिल्म एंड थियेटर सोसाइटी की प्रमुख डॉ.मंजरी बख्शी सिंह का चयन कथक केन्द्र नई दिल्ली के बतौर रेपर्टरी आर्टिस्ट सलेक्शन हुआ है। कथक केंद्र के लिए चयन होने वालों में मंजरी छत्तीसगढ़ की पहली कलाकार हैं, जिन्होंने कथक की तालीम प्रोफेसर डॉ.माण्डवी सिंह से ली है।

मंजरी देशभर के कई फेस्टिवल सहित राष्ट्रीय मंचों पर प्रदर्शन कर चुकी हैं और एनएस भी प्राप्त है। वहीं पिछले पांच साल से आवाज फिल्म एंड थियेटर सोसाइटी की मुख्य कलाकार और संस्था की बागडोर संभाल रहीं हैं। मंजरी रंगकर्मी शिशुपाल सिंह बघेल की पत्नी हैं कथक केंद्र की स्थापना 1964 में संगीत नाटक अकादमी की एक संविधान इकाई के रूप में हुई थी। कथक नृत्य में प्रशिक्षण इसके अस्तित्व का मूल है।

कथक केंद्र का उद्देश्य कला के अत्यधिक कुशल कलाकारों को तराशना है जो अगली पीढ़ी के विद्वान गुरु-कोरियोग्राफर और सबसे ऊपर, कला-रूप के बुद्धिमान अधिवक्ता हैं। गुरुओं की एक प्रतिभाशाली और समर्पित टीम कथक केंद्र में प्रशिक्षण का मजबूत स्तंभ बनाती है। डॉ. मंजरी ने बताया कि केंद्र में एक शास्त्रीय परंपरा को प्रथाओं, दृष्टिकोणों, कौशल और कलाओं के निरंतर विकसित होने वाले निकाय के रूप में देखा जाता है। संगोष्ठियों, के माध्यम से, केंद्र विकास, विविधता को बढ़ावा देने संवाद और बहस को जीवित रखने का प्रयास करता है।

"छत्तीसगढ़ 24 न्यूज़" के लिए प्रदीप बोरकर की रिपोर्ट
"छत्तीसगढ़ 24 न्यूज़" के लिए प्रदीप बोरकर की रिपोर्ट
प्रदीप बोरकर जिला खैरागढ़, छत्तीसगढ़

Advertisement

ताज़ा खबरे

Video News

NEWS

error: \"छत्तीसगढ़ 24 न्यूज़\" के कंटेंट को कॉपी करना अपराध है।