संभाग आयुक्त ने पार्षद को किया बर्खास्त, फर्जी जाति प्रमाणपत्र दिखाकर लड़ा था चुनाव

दुर्ग : जिला के भिलाई नगर निगम में फर्जी जाति प्रमाण पत्र दिखाकर चुनाव जीतने वाले वार्ड क्रमांक 24 के पार्षद नितीश यादव को संभागायुक्त ने बर्खास्त कर दिया है। दरअसल, फर्जी जाति प्रमाण पत्र के मामले की शिकायत हाउसिंग बोर्ड औद्योगिक क्षेत्र निवासी वार्ड 24 के छाया पार्षद सिद्धार्थ यादव ने की थी। जिस पर जांच के बाद दुर्ग संभागायुक्त ने आज पार्षद की बर्खास्तगी आदेश जारी किया।

पार्षद नीतेश यादव के खिलाफ शिकायतकर्ता सिद्धार्थ यादव ने हाईकोर्ट बिलासपुर में याचिका दायर की थी। याचिका में कहा गया था कि, नीतीश यादव ने ओबीसी वर्ग का संबंध होने का दावा किया था, लेकिन नीतिश ने सिर्फ जाति प्रमाण पत्र बनाने के लिए किए गए आवेदन की पर्ची पर चुनाव लड़ा और नामांकन तक कोई जाति प्रमाण पत्र जमा नहीं किया। इस पर आयुक्त से भी पार्षद की बर्खास्तगी की मांग की थी, लेकिन निगम आयुक्त की ओर से कार्रवाई नहीं होने पर शिकायतकर्ता ने हाईकोर्ट में याचिका दायर की, जिसके बाद हाईकोर्ट ने 3 महीने के अंदर प्रकरण के निराकरण के निर्देश संभाग कमिश्नर सत्यनारायण राठौर को दिए। 3 महीना में सात बार पेशी होने के बाद अब जाकर संभाग आयुक्त ने बर्खास्तगी के आदेश जारी किया है।

इस मामले में प्रार्थी सिद्धर्थ ने आरटीआई में जाति प्रमाण पत्र फर्जी होने का पता लगाया था । इस मामले को लेकर सुपेला थाना में एफआईआर भी दर्ज कराई गई थी। शिकायतकर्ता ने भिलाई निगम के नेता प्रतिपक्ष भोजराज सिन्हा के साथ दुर्ग संभागायुक्त से भी नगर निगम अधिनियम 19 (1) (अ-1) के तहत पार्षद सलमान और नितेश यादव पर कार्रवाई की मांग की थी।  इस आधार पर न्यायालय संभागायुक्त (Court Division Commissioner) ने नोटिस जारी कर दोनों से जवाब मांगा था। शिकायतकर्ता सिद्धार्थ यादव ने कहा कि, न्यायालय पर उन्हें भरोसा था, जिसके वजह से सत्य की जीत हुई है। छल से चुनाव जीतने वालों का आज पर्दाफाश हुआ है। भिलाई निगम के नेता प्रतिपक्ष भोजराज सिन्हा ने कहा, सत्ता का दुरुपयोग कर प्रशासन पर दबाव बनाकर चुनाव लड़ने और जीत हासिल करने वाले पार्षद को आज बर्खास्त कर दिया गया है। वहीं यह जीत सत्य की जीत है और यह जीत पिछड़ा वर्ग की जीत है।

Advertisement

ताज़ा खबरे

Video News

NEWS

error: \"छत्तीसगढ़ 24 न्यूज़\" के कंटेंट को कॉपी करना अपराध है।