फटे बोरी देखते ही कलेक्टर ने नोडल अधिकारी को हड़काया, धान खरीदी केन्द्रों का किया निरीक्षण

कोरिया : कलेक्टर विनय कुमार लंगेह लगातार धान खरीदी केन्द्रों का दौरा ही नहीं कर रहे हैं, बल्कि वहां पहुंचकर सीधे किसानों से चर्चा कर उनकी समस्याओं, परेशानियों के बारे में पूछ भी रहे हैं।बता दें 1 नवम्बर 2023 से धान खरीदी शुरू हुआ है, जो 31 जनवरी 2024 तक चलेगी। जिले में इस वर्ष पंजीकृत किसानों की संख्या 22 हजार 274 है, वहीं धान बोए गए रकबे 29 हजार 771 हेक्टेयर है। 22 धान खरीदी केन्द्र बनाए गए हैं।



मोटा धान एवं पतला धान की खरीदी बड़ी संख्या में की जा रही है। समर्थन मूल्य पर मोटा धान 2 हजार 183 रूपए प्रति क्विंटल तथा पतला धान 2 हजार 203 रूपए प्रति क्ंिवटल की दर पर खरीदी की जा रही है।कोरिया जिले के सभी धान केन्द्रों में बड़ी संख्या में धान बेचने वाले किसान पहुंच रहे हैं। इसी कड़ी में आज कलेक्टर श्री विनय कुमार लंगेह एवं पुलिस अधीक्षक श्री त्रिलोक बंसल ने जिले के पटना, सरभोका एवं झरनापारा धान खरीदी केन्द्र पहुंचकर किसानों से चर्चा की।



जानकारी के मुताबिक अभी तक 22 धान खरीदी केन्द्रों से 4 हजार 662 किसानों ने समर्थन मूल्य पर मोटा धान 224032.40 क्ंिवटल विक्रय कर चुके हैं।फटे बोरी देखते ही नोडल अधिकारी को हड़कायाः सत्तीपारा निवासी किसान बुधुलाल राजवाड़े ने जब कलेक्टर को बताया कि उन्हें फटे बोरी दिया गया है, तो तत्काल फटे बोरी को देखने गए और मौके पर नोडल अधिकारी को फटकार लगाते हुए कहा कि किसी भी हालत में किसानों को फटे व छोटे बारादाना बिल्कुल न दें और श्री बुधुलाल को नया बारदाना देने का निर्देश दिए।



कोई पैसे मांगेंगे तो शिकायत करूंगा जब किसानों से कलेक्टर ने कहा कि कोई भी पैसे मांगे तो कार्यवाही की जाएगी। यह बात को सुनते ही युवा किसान चारपारा निवासी साहिल ने कलेक्टर से कहा कि साहब, यहां कोई पैसे मांगेंगे तो आपको शिकायत करूंगा ? यह बात सुनते ही कलेक्टर श्री लंगेह ने कहा जरूर और कार्यवाही भी होगी, इस पर बड़ी संख्या में किसान और मजदूरों ने तालियां भी बजाई। ग्राम मुरमा के किसान श्री भगवान सिंह 80 कट्टा धान बेचने आए थे, कलेक्टर ने उनसे पूछा कि पानी पीने की व्यवस्था है कि नहीं ? भगवान सिंह ने बताया पानी पीने की व्यवस्था है।





नोडल अधिकारी को फटकारश्री लंगेह जब धान खरीदी केन्द्र झरनापारा पहुंचे तो उन्होंने धान की तौल को जांच किए। किसी बोरी में 39 किलो तो किसी बोरी में 42 किलो वजन था। तत्काल नोडल अधिकारी को बुलाकर फटकार लगाते हुए कहा कि किसी भी हालत में नियमानुसार 40 किलो 700 ग्राम से अधिक और न ही कम वजन होना चाहिए। दोबारा वजन करने के निर्देश भी दिए।



धान के उठाव के बारे में नोडल अधिकारियों जानकारी प्राप्त की साथ ही सभी किसानों से कहा किसी भी परेशानी होने पर तत्काल जानकारी दें ताकि समय पर समाधान हो सके। धान खरीदी के upन्द्रों में नोडल अधिकारियों, प्रबंधकों को निर्देश दिए कि किसी भी तरह से किसानों को कोई समस्या नहीं हो। साथ ही खरीदी केंद्रों में बारदाना, साफ पेयजल, बिजली आदि की समुचित व्यवस्था भी रखने के निर्देश

Chhattisgarh24News.Com के व्हाट्सएप चैनल को फॉलो करना न भूलें 👇

 https://whatsapp.com/channel/0029Va4mCdjL7UVLuM2mkj0Q 
ताज़ा खबरे

Video News

NEWS

error: \"छत्तीसगढ़ 24 न्यूज़\" के कंटेंट को कॉपी करना अपराध है।