मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने किसान के घर खाया पितर भात

रायपुर : मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल जी आज बालोद जिले के विधानसभा डौंडीलोहारा के ग्राम कुसुमकसा में किसान पुरषोत्तम जीराम के घर पितर नवमीं के अवसर पर पहुँचकर स्नेहपूर्वक भोजन किया। जब पुरषोत्तम जीराम के घर मुख्यमंत्री आये तब घर परिवार में एक अलग माहौल बन गया ,घर वालों ने उनका घर के देवरावठी में चौक पूरकर ज़ोडा कलश जलाकर पीढ़हा में खडे़कर ओरछा उतारकर घर में प्रवेश कराया। मुख्यमंत्री के आने परिवार के सभी लोगों के चेहरे में खुशियां साफ झलक रही थी।

वही मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को जब छत्तीसगढ़ी व्यंजनों से भरी थाली परोसा गया तब उन्होंने बड़े आनंद के साथ भोजन किया। पुरषोत्तम जीराम की पत्नी सावित्रीबाई ने भोजन परोसा। मुख्यमंत्री जी की थाली में तोरई, बरबटी, प्याज भाजी, लालभाजी, कोचई पत्ता कढ़ी, पूड़ी, बड़ा, खीर, चावल- दाल, टमाटर चटनी तवा रोटी, अइरसा, खुरमी सलोनी, पापड़ जैसे स्वादिस्ट छत्तीसगढ़ी व्यंजन परोसा गया ।

बता दे की मुख्यमंत्री जी ,पुरषोत्तम के यहां उनके दिवंगत माता स्वर्गीय गनेशी बाई व पिता स्वर्गीय भगवानी राम के नवमीं पितर मिलन के अवसर पर यहां उनके निवास पहुँचे थे। उन्होंने यंहा जमीन पर बैठकर पीढ़हा के ऊपर फुलकास की थाली में भोजन का आनन्द लिए। मुख्यमंत्री ने ठेठ छत्तीसगढ़ी अंदाज में भोजन ग्रहण किये। इस अवसर पर मुख्यमंत्री जी ने कहा की मोला अतक बढ़िया भात साग खवाय हव। मोला अपन गांव अउ घर के सुरता आगे। गांव के साग भात बने सुहाथे। मुख्यमंत्री जी ने इस दौरान घर वालों से बात कर हाल चाल जाना। मुख्यमंत्री ने कहा मोरो घर के नेवता हेवे हमरो घर आहू।

Advertisement

ताज़ा खबरे

Video News

NEWS

error: \"छत्तीसगढ़ 24 न्यूज़\" के कंटेंट को कॉपी करना अपराध है।