समर्थन संस्था के ( LIC – HFL ) ह्रदय परियोजना के तत्वाधान में विश्व जल दिवस समारोह का किया गया भव्य आयोजन

विश्व जल दिवस समारोह का किया गया आयोजन

सेलुद: समर्थन संस्था के ( LIC – HFL ) ह्रदय परियोजना के तत्वाधान में विश्व जल दिवस समारोह का किया गया भव्य आयोजन। कार्यक्रम में मुख्य अथिति के रूप में श्री राजेश टंडेकर – जिला सलाहकार , स्वच्छ भारत मिशन , विशिष्ट अतिथि – रविशंकर – विकास खण्ड समन्वयक दुर्ग , स्वच्छ भारत मिशन एवं नरेश साहू – क्षेत्रीय समन्वयक पाटन स्वच्छ भारत मिशन , साथ ही सरपंच परसाही से श्रीमती सावित्री नेताम , धौराभाठा से श्रीमती बिन्देश्वरी मेश्राम , गाड़ाडीह से उपसरपंच टोपेंद्र वर्मा , गौठान व शाला विकास समिति अध्यक्ष – अशोक माड़ारिया गाड़ाडीह से उपस्थित रहे ।सभी अतिथियों को संस्था की ओर से गुलाल लगाकर श्रीफल भेट कर स्वागत किया गया | (LIC – HFL) ह्रदय परियोजना के द्वारा 5 ग्राम में विशेष कर वर्षाजल संचयन के लिए , निर्माण कार्य किया गया है ।जिसमे कुंआ के जल का पुर्नभरण , सोकता गड्ढा हैंडपंप के पास, किचन गार्डन गंदा पानी प्रबंधन जैसे मुख्य कार्य किये जा रहे है।इस प्रकार संस्था द्वारा जल बचाने, कल बचाने के लिए जमीनी स्तर पर कार्य किया जा रहा है । इस उपलक्ष्य पर माहिलाओं को जों कि महिला , मिस्त्री , प्लम्बर जल बहिनी, पैड प्रशिक्षण का कार्य सहयोगात्मक भाव से कर रहे हैं, उन्हें अतिथियों के द्वारा प्रमाण पत्र देकर सम्मानित किया गया ।

धौराभाठा की महिला मिस्त्रियों के माध्यम से संस्था द्वारा किये जाने वाने कार्यो का उल्लेख करते हुए सुवा नृत्य का प्रस्तुति किया गया , साथ ही किशोरी बालिकाओ के माध्यम से माहवारी स्वच्छता प्रबंधन के ऊपर नुक्कड़ नाटक किया गया । जल को बचाने के लिए एवं शुद्ध व गुणवत्ता पूर्ण पेयजल उपलब्ध कराने के सापेक्ष में जल बहिनियों द्वारा 10 मानकों के साथ जल परिक्षण किया गया। श्री राजेश टंडेकर जी ने अपने उध्द्बोधन के माध्यम से बताया कि धरती पर जल की मात्रा तो भरपूर है , लेकिन सभी पीने युक्त नहीं है।

पीने के पानी को बचाने के लिए हमें स्वच्छता पर विशेषकर ध्यान देने की आवश्यकता है। पेयजल स्रोतों के 10 मीटर की दुरी पर कोई भी प्रकार की शौचालय या कूड़ा कचरा का प्रबंध करना चाहिए। रविशंकर जी ने बताया कि आज हमें जल की महत्ता को समझना होगा, पुरे विश्व में जल की उपलब्धता असमान है , इसलिए आने वाने भविष्य में जल संकट का सामना करना पड़ेगा , जिसके लिए हमें अभी से पानी बचाने के उपायों को अपनाना होगा । अपने घरों में रैन वाटर हर्वेस्र्टिंग के द्वारा बारिश के पानी को बचा सकते हैं | व्यर्थ बहते नल को बंद करे , कुंआ तालाब की सफाई करें । इस प्रकार उन्होंने 200 महिलाओं और 250 किशोरी बालिकाओं को इस बात के लिए जागरूक किये ।

अशोक माड़रिया जी ने बताया कि पानी बिना हमारा दिनचर्या अधुरा है , हमें जल के साथ मित्रता पूर्ण व्यवहार अपनाना चाहिए | जल ही जीवन का आधार है । इसी प्रकार धौराभाठा से सरपंचिन जी श्रीमती बिन्देश्वरी नेताम ने बताया कि महिलाएँ ही सबसे ज्यादा पानी का इस्तेमाल करते है जैसे सुबह खाना बनाने , कपड़े धोने , घरों की सफाई में , बर्तन साफ करने में इत्यादि  अगर महिलाएँ चाहेंगे तो रोज 2 मटका या 2 बाल्टी पानी को प्रतिदिन बचाकर 35 दिनों में एक व्यक्ति द्वारा 730 बाल्टी शुद्ध जल बचाया जा सकता है , इसके लिए हम सभी को जागरूक होकर जल का इस्तेमाल करना चाहिए । ब्रश करते समय नल को बंद करके जितने पानी की आवश्यकता उतना ही लेने पर जोर दिया गया , इस प्रकार जल ही जीवन है का संकेत दिया गया ।

ग्राम पंचायत गाड़ाडीह के उपसरपंच टोपेन्द्र जी ने बताया कि LIC – परियोजना के तहत उनके गाव के विकास में अहम भूमिका निभाया है जैसे महिला मिस्त्री , प्लम्बर टेक्निकल , जल बहिनी बनाकर महिला शशक्तिकर में योगदान दिए हैं | महिलाओं द्वारा गाँव में जल का सही प्रबंध के लिए सोकता गड्ढा , चैम्बर निर्माण , वेस्ट वाटर फ़िल्टर प्लांट आदि का कार्य सुचारू रूप से चल रहा है।

जल अगर स्वच्छ है तब वह जीवन देती है और वही जल गंदा अशुद्ध हो तब जहर बनकर जीवन भी ले सकती है इसलिए हमें जल को साफ सुथरा गुणवत्ता पूर्ण रखना चाहिए । गाँव समाज का वातावरण स्वच्छ रखना चाहिए , जिससे लोगो में जल बचाने के लिए सकारात्मक प्रवृत्ति बनेगी ।शाला विकास समिति के अध्यक्ष द्वारा माहिलाओ और बालिकाओं को खुर्शी दौड़ , मटका फोड़ खेल खेलाया गया | बालिकाओं द्वारा विद्यालय के दीवारों पर चित्रकारी किया गया।जल बचाने के संकेत देते हुए एवं महतारी भवन में चित्रकारी किया गया ।

कार्यक्रम को सफल बनाने में समर्थन संस्था एवं माहिलाओ का विशेष योगदान रहा , जिसमें सूरज सिंह चंदेल, हिरेन्द्र तिवारी, राधिका महरा, ओमप्रकाश मारकंडे, डिलेश्वरी साहू, वामन साहू, वर्षा यादव, आशीष यदु, उत्तम साहू, तिलेश्वरी साहू, दिनेश कुमार देशमुख, गीतांजलि यादव,ओमेश्वरी साहू, कुमारी मनभा, देवला, सरिता, जयंती, शैलेंद्री यादव, चन्द्रकला, शुकवारो, मुकेश, देवेन्द्र, बसंती, झामिन, देवकुमारी, गेमेश्वरी, भगवती, सरिता साहू आदि शामिल रहे।

कार्यक्रम के समाप्ति में संस्था द्वारा सभी प्रतिभागियों के लिए स्वल्पाहार भोजन की व्यवस्था किया गया था इस प्रकार जल जीवन मिशन और विश्व जल दिवस का कार्यक्रम अत्यंत हर्षौल्लास से मनाया गया।

KARAN SAHU
KARAN SAHU
करन साहू कार्यक्षेत्र - पाटन ( छ.ग. ) "छत्तीसगढ़ 24 न्यूज़"

Advertisement

ताज़ा खबरे

Video News

NEWS

error: \"छत्तीसगढ़ 24 न्यूज़\" के कंटेंट को कॉपी करना अपराध है।