सड़कों पर मवेशी : अब होगी ग्राम सभाओं में चर्चा ,तब होंगे उपाय

सड़कों पर मवेशी आने से रोकने ग्राम सभाओं में होगी चर्चा , आगामी 20 अगस्त से सभी ग्राम पंचायतों में होगा ग्राम सभाओं का आयोजन

गरियाबंद। जिले में आगामी 20 अगस्त से सभी ग्राम पंचायतों में ग्राम सभाओं का आयोजन किया जायेगा। ग्राम विकास योजना के साथ-साथ इस बार ग्राम सभाओं में मवेशियों को सड़कों पर आने से रोकने के लिए , मवेशियों से हो रही सड़क दुर्घटनाओं और जान माल के नुकसान को रोकने के उपायों पर प्रभावी चर्चा होगी। ग्रामीणों के बीच मवेशियों को सड़कों पर नहीं आने देने के लिये जन-जागरूकता बढ़ाने के साथ-साथ संकल्प भी ग्राम सभाओं में पारित किये जायेंगे । इस बार ग्राम सभाओं में लिये गये निर्णयों की अधिकतम 15 मिनट की वीडियो रिकार्डिंग भी की जायेगी और उसे ग्राम सभा निर्णय मोबाईल एप्प पर अपलोड किया जायेगा। ग्राम सभा की गतिविधियों को वाइब्रेंट ग्राम सभा पोर्टल https://meetingonline.gov.in एवं जीपीडीपी पोर्टल पर भी अपलोड किया जायेगा

कलेक्टर आकाश छिकारा ने जिले के समस्त अनुविभागीय अधिकारी राजस्व तथा जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी को आगामी 20 अगस्त से सभी ग्राम पंचायतों में ग्राम सभाओं की बैठक आयोजित करने के निर्देश दिये है। ज्ञात हो कि छत्तीसगढ़ पंचायत राज अधिनियम 1993 की धारा-6 में ग्रामसभा का प्रत्येक तीन मास में कम से कम एक सम्मिलन आयोजित करने का प्रावधान है।

ग्राम सभाओं की बैठक का ये होगा एजेंडा

ग्राम सभाओं की बैठक में ग्राम सभा की पूर्व बैठक में पारित संकल्पों के क्रियान्वयन संबंधी पालन प्रतिवेदन, पंचायतों के विगत तिमाही के आय-व्यय की समीक्षा एवं अनुमोदन, पिछली छमाही में विभिन्न योजनाओं से स्वीकृत कार्य के नाम, प्राप्त राशि स्वीकृत राशि, व्यय राशि एवं कार्य की अद्यतन स्थिति का वाचन, महात्मा गांधी राष्ट्रीय रोजगार गारंटी योजना से संबंधित जिलों की ग्राम पंचायतों में रोजगार गारंटी योजना में ग्रामीण परिवारों द्वारा रोजगार की मांग तथा उपलब्ध कराये गये रोजगार की स्थिति की समीक्षा की जायेगी।

"छत्तीसगढ़ 24 न्यूज़" के लिए किरीट ठक्कर की रिपोर्ट
"छत्तीसगढ़ 24 न्यूज़" के लिए किरीट ठक्कर की रिपोर्टhttps://chhattisgarh-24-news.com
किरीट ठक्कर "छत्तीसगढ़ 24 न्यूज़" संवाददाता

Advertisement

ताज़ा खबरे

Video News

NEWS

error: \"छत्तीसगढ़ 24 न्यूज़\" के कंटेंट को कॉपी करना अपराध है।