जरूरत की मूलभूत सुविधाओं से भी वंचित है प्रदेश के आदिवासी-कोमल हुपेंडी – प्रदेश अध्यक्ष

प्रदेश के आदिवासी,मजदूर व किसान सिर्फ वोट बैंक नहीं है वे सभी विकास के भी हकदार है-समीर खान,प्रदेश अध्यक्ष, अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ



छत्तीसगढ़ के आदिवासी अपनी संस्कृति अपनी सभ्यता और जल जंगल जमीन को बचाना चाहते है जिसके लिए लगातार संघर्ष कर रहे है आज रोजमर्रा की सुविधाओं के लिए भी तरस रहे है लगातार उपेक्षा हो रही है । न भवन न स्वास्थ्य सुविधा न बिजली और न ही स्वक्छ पानी उपलब्ध करा पा रही है भुपेश सरकार आदिवासी अपने आप को सिर्फ वोट बैंक मान कर जी रहा है बाकी सुविधा उनके लिए एक धोखा मात्र बनकर रह गई है



आप जानते हैं जिला बीजापुर थाना गंगालूर ऐंडसमेटा में 17 मई 2013 को आंदोलन के दौरान 8 बेगुनाह ग्रामीणों को मार दिया गया लेकिन आजतक सरकार को उन आदिवासीयो की जरा भी चिंता नहीं है आम आदमी पार्टी सरकार को यह याद दिलाना चाहती हैं कि जिस प्रकार लखीमपुर में भुपेश बघेल जी ने मृतकों को 50-50 लाख सहायता राशि देने की घोषणा की है तो यह तो उनके घर का मामला है यहां प्रत्येक मृतक के परिवार को एक-एक करोड़ की सहायता राशि दे सरकारह व साथ ही घायलों को 50-50 लाख की सहयोग राशि प्रदान करे



आम आदमी पार्टी दंतेवाड़ा विधानसभा अध्यक्ष राजाराम कश्यप ने कहा जब छत्तीसगढ़ राज्य बना तो ये उम्मीद थी कि यहां के स्थानीय आदिवासियों को बेहतर सुविधाएं मिलेंगी परन्तु चाहे भाजपा हो या कांग्रेस सरकार दोनों ही अबतक आदिवासियों का शोषण करते आरहे है और उन्हें विकास से दूर रखा है मूलभूत सुविधाएं भी नही मिल पा रही फिर चाहे वो बिजली हो सड़क हो या फिर पीने को शुध्द पानी हो।



बस्तर संभाग के अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ के अध्यक्ष नसीम खान ने कहां बस्तर संभाग के जिम्मेदार अधिकारी और कर्मचारी खुलेआम चल रहे भ्रष्टाचार पर खामोश है और उनकी ये खामोशी कहि न कही सरकार की उदासीन रवैय्ये व बस्तर के आदिवासियों की अनदेखी को दर्शाता है जिसके लिए आनेवाले वक़्त याद रखा जाएगा, बस्तर वासियों को उनका हक मिलना चाहिए



आदिवासियों के चल रहे उनके हक की लड़ाई में आम आदमी पार्टी साथ खड़ी है आज के कार्यक्रम में सुमेश बघेल गीता मंडावी अंजली गुप्ता रमेश कश्यप आम आदमी पार्टी कार्यकर्ता शामिल हुए।

Advertisement

ताज़ा खबरे

Video News

NEWS

error: \"छत्तीसगढ़ 24 न्यूज़\" के कंटेंट को कॉपी करना अपराध है।