अमलीपदर क्षेत्र ग्राम कंडेकेला सरपंच सचिव ने ऐसा क्या किया की पंचों ने यह कदम उठाया जानें कैसे क्या है माजरा

✍️जिला संवाददाता विक्रम कुमार नागेश की रिपोर्ट गरियाबंद 

अमलीपदर-गरियाबंद जिला मैनपुर ब्लॉक नवीन तहसील कोर्ट अमलीपदर क्षेत्र ग्राम कंडेकेला का है मामला सरपंच ग्राम पंचायत का प्रमुख होता है सरपंच चुने गए पंचों की मदद से ग्राम पंचायत के महत्वपूर्ण विषयों पर निर्णय लेता है जैसे विकास कार्यों ग्राम की मूलभूत सुविधाओं कर वसूली आदि कार्य निहित हैं लेकिन जब सरपंच ग्राम का प्रमुख होते हुए भी अपने चुने हुए पंचों के विरुद्ध जाकर गांव पर मनमानी कर शासन द्वारा आए हुए रुपयों का बंदरबांट कर दिया जाए या फिर बिना प्रस्ताव करें राशि का आहरण कर गलत ढंग से उसे उपयोग करे तो स्वाभाविक है कि गांव में सरपंच और पंचों के बीच हुई विद्रोह होना तय माना गया है ऐसा ही मामला ग्राम पंचायत काडेकेला का है जहां पर पंचों द्वारा सरपंच और सचिव एक कार्यशैली पर सवाल उठाया है ग्राम पंच का कहना है कि सरपंच और सचिव द्वारा बगैर काम कराए व बगैर प्रस्ताव के राशि को आहरण कर गबन करने का आरोप लगाया है जिसकी जांच के लिए कलेक्टर को भी पूर्व में आवेदन दिया गया है और आज एसडीएम कार्यालय और जनपद पंचायत सीईओ को ग्राम पंचायत सरपंच नंद किशोर कोमर्रा व सचिव उपेंद्र नेताम को गबन के विरुद्ध में बर्खास्त करने का मांग किया है अगर बर्खास्त नहीं किया गया तो पंचायत पंच द्वारा पद त्याग करने का आवेदन दिया है पंचों द्वारा कहना है कि ग्राम पंचायत कंडेकेला के सरपंच नंद किशोर कोमर्रा व सचिव उपेंद्र नेताम द्वारा बगैर पंचों के प्रस्ताव को सहमति के बिना काम करवाए लगभग 6 से 8 लाख तक की राशि फर्जी कामों के नाम पर बगैर पंचायत प्रस्ताव की पूर्व की भांति बिना किसी कार्य सामग्री के201100/ राशि आहरण कर लिया गया है उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि अक्टूबर 2022 तक आहरण राशियों की तिथि वार निकाले गए राशियों की जांच व भौतिक सत्यापन कर कठोर कार्यवाही की करते हुए बर्खास्त करने की मांग की है यदि जांच नहीं हो पाता तब पंचायत के पंचों द्वारा पद त्याग के लिए आवेदन प्रस्तुत किया है

प्रेस वार्तालाप पर पंचों ने छत्तीसगढ़ 24 न्यूज़ को बताया कि पंचों को दिए जाने वाला भत्ता का भी भुगतान सचिव द्वारा नहीं किया जाता है

ग्राम पंचायत काडेकेला के पंचों द्वारा पूर्व में कलेक्टर जन चौपाल में आवेदन दिया हुआ था पंचायत पंचों की भत्ता राशि का आहरण कर लिया गया है लेकिन अब तक भुगतान नहीं किया गया सरपंच व सचिव द्वारा अवैधानिक तरीके से राशि आहरण कर लिया गया है और राशि को गबन कर लिया गया है पंचों द्वारा कहा गया कि सरपंच नंदकिशोर कोमरा एवं उपेंद्र नेताम द्वारा दोनों मिलकर राशि को गलत तरीके से आहरण कर राशि गबन किया है जिसकी शिकायत 5/8 /2022 को किया गया है लेकिन अभी तक किसी प्रकार की जांच नहीं हुई है जांच नहीं करना कई संदेह को जन्म देता है तथा पंचों की बैठक की भत्ता राशि आहरण कर अभी तक भुगतान नहीं किया गया है जिसकी जांच हेतु आवेदन प्रस्तुत किया है।

VIKRAM NAGESH
VIKRAM NAGESH
विक्रम कुमार नागेश ( जिला संवाददाता) सैयद बरकत अली (जिला ब्यूरो) कार्यक्षेत्र - गरियाबंद

Advertisement

ताज़ा खबरे

Video News

NEWS

error: \"छत्तीसगढ़ 24 न्यूज़\" के कंटेंट को कॉपी करना अपराध है।